Rojgar Live

SarkariNet.Com Latest Jobs, Admit Card, Results, Answer Key - SarkariNet.Com

SarkariNet.Com ( सरकारी नेट डॉट कॉम ) All information about the SarkariNet, Ration Card Online Apply, Bihar Board Marksheet, ITI Certificate, Latest Jobs, Admit Card, Board Exams Result, Syllabus, Answer Key, Sarkari Yojana, Certificate Download on Www.SarkariNet.Com

Corona Vaccine Registration Bihar 2021 कोरोना वैक्सीन लेने के लिए पंजीकरण करे ऑनलाइन (Corona Virus (Covid19) Online Vaccination Registration 2021) | क्या है कोरोना वायरस (कोविड-19), कोरोना वायरस के लक्षण और निवारण 2021 Citizen Registration & Appointment for Vaccination

 

Corona Vaccine Online Registration 2021 | कोरोना वैक्सीन के लिए पंजीकरण ऑनलाइन

Corona Vaccine Online Registration 2021

www.SarkariNet.com

Corona Vaccine Online Registration 2021

महत्वपूर्ण तिथि

  • ऑनलाइन आवेदन की तिथि: 01 मार्च 2021
  • रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि: कोई सिमा नहीं
  • Toll free helpline number : 1075

Corona Vaccine Registration Bihar 2021

कोरोना वायरस, जिसकी शुरुआत पिछले साल चीन के वुहान प्रांत के सीफ़ूड और पोल्ट्री बाजार मे हुई है, आज दुनिया भर के लिए एक घंभीर मामला बन गयी है | यह वायरस आज तक 70 देशों में फैलने के बाद, करीबन 3 हज़ारों कि मौत और 10 हज़ार से ज़्यादा लोगो के बीमारी कि वजह बन चुकि है | क्या है यह वायरस, इसकि शुरुवात कैसे हुई, कैसे बन गयी यह एक ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी, अपने आप और अपने परिवार वालो को कैसे बचा सकते है इस वायरस से, क्या इस वायरस का कोई इलाज है? यह सब प्रश्नो का जवाब और इस वायरस कि पूरी जानकारी जानने के लिए आगे पढ़ें |

क्या हैं कोरोना वायरस के नए लक्षण

कोरोना वायरस के लक्षण एक मामूली ज़ुखाम से लेकर ज़्यादा गंभीर रोगों कि वजह हो सकती है जैसे कि मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (Middle East Respiratory Syndrome: MERS-CoV) और सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (Severe Acute Respiratory Syndrome: SARS-CoV) | कोरोना वायरस ज़ूनोटिक (zoonotic) है जिसका अर्थ है पशुजन्य रोग | यह वायरस से इंसान और जानवर दोनों भुगत सकते है | यह वायरस को अभी “SARS-CoV-2” का नाम रखा गया है और इसकि वजह से आने वाली बीमारी को “Corona Disease 2019” जिसका सक्षिप्त नाम “COVID-19” है |

कोरोना वायरस (COVID-19)

इस वायरस के बारे में सबसे पहले चीन के वुहान प्रांत में पता चला है जिसके बाद इसकि पहुंच करीबन 70 देशों में पायी जा रही है | 23 जनवरी को, चीन कि गवर्नमेंट अधिकारियो ने बाकी देश और दुनिया से वुहान को, जिसकी जनता संख्या करीबन 1 करोड कि है, काट डाला और वहा से आने जाने वाले सभी ट्रांसपोर्ट को बंद करवा दिया गया |

Corona Vaccine Registration Bihar

जापान, साउथ कोरिया, थाईलैंड, ताइवान, यूनाइटेड स्टेट्स कि देशों में यह वायरस का प्रवेश और संक्रमण जनवरी के 20 तारीख के बाद हो गया था जनवरी, 30, 2020 को विश्व स्वास्थ्य संगठन ‘WHO’ ने इस वायरस ऑउटब्रेक को सामाजिक स्वास्थ्य इमरजेंसी घोषित कर दिया, जो कि एक अंतर राष्ट्रीय चिंता का कारण है |

क्या है कोरोना वायरस के लक्षण ?

कोरोना वायरस से पीडित जनो के लक्षण, अनावरण होने के 2 से 14 दिनो के बाद दिखाई देते हैं | यह लक्षण अधिकतर सौम्य होते है और सामन्य रूप मे इनकी उपेक्षा कि जाती है | कुछ लोग के संक्रमित होने के बावजूत, इनमे कोई लक्षण दिखाई नही देते है | कोई लक्षण ना दिखने पर भी ये संक्रमण हो सकते है। आपके शरीर की वायरल लोड (वायरस की संख्या) एक गंभीर लक्षण वाले बयक्ति के सामान हो सकते है। इसका मतलब है कि आप उतना ही संक्रमण के संकट में हैं जितना के COVID-19 के सीरियस पेशेंट हैं। 80 प्रतिशत लोग किसी विशेष इलाज के बिना भी ठीख हो जाते है। यदि आप हाल ही में COVID-19 कन्टेनमेंट ज़ोन से यात्रा करके लौटे हैं, तो आपके साथ साथ उन सभी लोगो को यह संक्रमण हो सकता हैं जो आपके या आपके परिवार के संपर्क में आएं है। ऐसे स्थिति में 14-21 दिन की सेल्फ-क्वारंटाइन (स्वयं संगरोध) करना आवश्यक है।

कोरोना वायरस से पीड़ित लोगो के लक्षण कुछ इस तरह के होते है।

  • बुखार
  • थकान
  • सुखी खासी
  • नाक का बंध होना
  • बेहति नाक
  • गले कि खराश
  • सांस लेने मे कठिनाई

कैसे फैलता है कोरोना वायरस ?

पहले से इस बिमारी से पीडित लोगो से नज़दीकी बनाये रखने से यह वायरस फैलता है | जब इस बीमारी के मरीज़, के खांसने से या छींकने से आती बूंदों के गिरने के स्थान या वस्तु के साथ संपर्क करके, अपने आँखों को या नाक को या मुँह को छूने से यह वायरस शरीर मे प्रवेश करता है | इन बूंदों को सांस लेने से भी यह वायरस के शिकार बन्न सकते है | इस बिमारी से प्रभावित लोगो से 1 मीटर (3 feet) दूरी बनाई रखनी चाहिए |

आपकी नाक और मुंह अतिसंवेदनशील हैं।

2020 की एक रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि यह कोरोना वायरस गले और शरीर के अन्य हिस्सों की तुलना में आपकी नाक और मुंह में ज़्यादा जाने की सम्भावना होती है। आपके आस-पास की हवा में छींकने, खांसने या सांस लेने की संभावना अधिक हो सकती है।

यह तेजी से शरीर के माध्यम से यात्रा कर सकता है।

यह कोरोना वायरस अन्य वायरस की तुलना में तेजी से शरीर के माध्यम से यात्रा कर सकता है। चीन के डेटा में पाया गया कि लक्षण शुरू होने के 1 दिन बाद ही COVID-19 वाले लोगों के नाक और गले में वायरस का संक्रमण मिला है।

क्या है भारत मे कोरोना वायरस का हाल ?

5 मार्च तक, भारत मे कोरोना वायरस के 30 पुष्ट किये हुए केसेस पायी गयी है: जयपुर मे 17, दिल्ली और NCR क्षेत्र मे 3, आगरा मे 6, तेलंगाना मे 1 और केरला मे 3. दर्ज किये गए मामलो को अस्पतालों मे अलगाव मे रखा गया है। प्रधान मंत्री का कार्यालय, स्वास्त्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय और कैबिनेट सचिव इस परिस्थिती मे कडी निगरानी रख रहे है |

क्या कोई वैक्सीन कोरोना वायरस का इलाज कर सकता है ?

कोरोना वायरस के इलाज के लिए अभी तक कोई भी विशिष्ट वैक्सीन नही बनि है | इस को मुमकिन करने के लिए, नैदानिक परिक्षण, स्टडीज और रिसर्च चल रही है | WHO भी पूरी सतर्कता से इस वायरस के इलाज को खोजने मे लगा है |

क्या मास्क पहन्ना आपको इन्फेक्ट होने से बचा सकता है ?

कोरोना वायरस दुनिया कि सबसे तेज़ी से बढ़ने वाली वायरस बन चुकि है | अपने आप को बचने के लिए आधी प्रतिशत जनता सर्जिकल मास्क पेहेन्ने मे उतर आ गयी है | सेंटर फॉर डिजीज कण्ट्रोल एंड प्रिवेंशन का यह मानना है कि मास्क्स पेहेन्ने से इन्फेक्शन का रिस्क कम करता है लेकिन इस तरीके से पूरी तरीके का सुरक्षा नही मिलता है | अपने आप को बचाने के लिए यही बेहतर है कि जब आप कोरोना वायरस से पीडित लोग से और जगहों दूर रहे |

किन लोगो मे यह वायरस ज़्यादा खतरनाक है ?

बुज़ुर्ग लोग और हाई ब्लड प्रेशर, दिल कि समस्याएं और मधुमेह के रोगियों मे यह रोग और खतरनाक रूप ले सकता है | इसके अलावा, पहले से ही किसी रोग के मरीज़ या इम्युनिटी कम होने वाले लोगो पर यह वायरस का ज़्यादा आसानी से प्रभाव पड़ता है |

किन लोगो मे यह वायरस ज़्यादा खतरनाक है ?

बुज़ुर्ग लोग और हाई ब्लड प्रेशर, दिल कि समस्याएं और मधुमेह के रोगियों मे यह रोग और खतरनाक रूप ले सकता है | इसके अलावा, पहले से ही किसी रोग के मरीज़ या इम्युनिटी कम होने वाले लोगो पर यह वायरस का ज़्यादा आसानी से प्रभाव पड़ता है |

इन नियमो का पालन करके आप अपने आप को सुरक्षित रख सकते है ?

  • अपने हाथों को कुछ समय के अंतर नियमित साफ करें। साबुन और पानी का उपयोग करें, या अल्कोहॉल आधारित सैनीटाइज़र से हाथ रगड़ें।
  • खांसने या छींकने पर अपनी नाक और मुंह को अपनी मुड़ी हुई कोहनी या एक टिश्यू से ढक लें।
  • COVID-19 से पीडित लोग से या खांसी या छींकने वाले किसी से भी सुरक्षित दूरी बनाए रखें। दूर रहे |
  • अपनी आँखें, नाक या मुंह को न छुएं।
  • यदि आप अस्वस्थ महसूस करते हैं तो घर पर रहें। अपने बर्तन, गिलास और बेड किसी से शेयर ना करे |
  • यदि आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई होती है, तो इलाज कराएं।
  • ज़्यादा इस्तेमाल करने वाले जगहों को नियमित तरीके से डिसइंफेक्टेंट से साफ़ करते रहे |
  • अगर आप बीमार है, तोह पब्लिक जगहों से दूर रहे जैसे कि स्कूल, ऑफिस आदि।
  • अपने स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के निर्देशों का पालन करें।

क्या कोई वैक्सीन कोरोना वायरस का इलाज कर सकता है ?

  • सबसे पहले आप को इस पेज के अंत में जाना होगा |
  • उसके बाद दी गयी लिंक पे क्लिक करें |
  • उसके बाद एक नया पेज खुलेगा उस पर उस पर क्लिक करने के बाद आप अपना मोबाइल नंबर दर्ज कर GET OTP पर क्लिक करे |
  • उसके बाद आपके नंबर को वेरीफाई करने के लिए उस पर एक ओटीपी भेजा जायेगा|
  • अब आपको अपना ओटीपी डालकर सबमिट कर आगे की प्रक्रिया को पूरा करे।

महत्वपूर्ण लिंक्स

Disclaimer : The Examination Results / Marks published in this Website is only for the immediate Information to the Examinees an does not to be a constitute to be a Legal Document. All efforts have made to make the Information available on this Website as Authentic as possible, and we are not responsible for any Inadvertent Error that may have crept in the Examination Results / Marks being published in this Website. Anybody for any loss to anybody or anything caused by any Shortcoming, Defect, or Inaccuracy of the Information on this Website.